अमिताभ बच्चन: इंकलाब श्रीवास्तव से सदी के महानायक तक के सफर की पूरी जानकारी

PERSONALITIES

शहंशाह, मेगास्टार, सुपरस्टार कई नामों से जाने जाने वाले अमिताभ बच्चन का 11 अक्टूबर को जन्मदिन है. अमिताभ का जन्म 11 अक्टूबर 1942 को इलाहाबाद में विजयादशमी के दिन हुआ था. इलाहाबाद और देशभर में मशहूर कवि हरिवंशराय बच्चन और तेजी बच्चन के बेटे अमिताभ का बचपन में नाम रखा गया इंकलाब, लेकिन कवि सुमित्रानंदन पंत ने ये सलाह दी उनका नाम अमिताभ रखा जाए.

कोलकाता: अमिताभ बच्चन की पहली नौकरी,अब मंदिर

अमिताभ का मंदिर, कोलकाता

कोलकाता में अमिताभ ने अपनी पहली नौकरी की थी. वहां वो कुछ सालों तक रहे थे. अब यहां पर उनके फैंस ने उनका मंदिर बनवाया है ये है खासियत:

  • मंदिर में अमिताभ चालीसा होती है और मंत्र पढ़े जाते हैं
  • हर रोज अमिताभ बच्चन के नाम की आरती इस मंदिर की खासियत है
  • फिल्म अक्स में अमिताभ ने जिस जूते का इस्तेमाल किया था उसकी भी यहां पूजा होती है.

किरोड़ीमल से की है पढ़ाई

अमिताभ ने अपनी शुरुआती पढ़ाई नैनीताल और देशभर में मशहूर शेरवुड कॉलेज से की. इसके बाद उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के किरोड़ीमल कॉलेज से ग्रेजुएशन किया. अमिताभ को अपनी आवाज की वजह से रेडियो की नौकरी गंवानी पड़ी थी, उन्हें नौकरी देने से इनकार कर दिया गया था, आज अमिताभ की आवाज ही उनकी पहचान है.

फिल्मों का सफर

फोटो-ट्विटर

अमिताभ के छोटे भाई अजिताभ ने उनकी कुछ तस्वीरों को ख्वाजा अहमद अब्बास के पास भेजा. उन दिनों अब्बास ‘सात हिंदुस्तानी’ फिल्म बना रहे थे और इस फिल्म के लिए अमिताभ को ले लिया गया, फिल्म ज्यादा नहीं चली लेकिन अमिताभ की एंट्री सुनहरे पर्दे पर हो चुकी थी.

जया बच्चन से शादी का किस्सा

साल 1973 में आई प्रकाश मेहरा की फिल्म ‘जंजीर’ अमिताभ के करियर में एक अहम मोड़ साबित हुई. इस फिल्म के बाद वो जया के साथ छुट्टियां मनाने के लिए लंदन जाना चाहते थे, लेकिन हरिवंश राय बच्चन ने कहा कि शादी करने के बाद ही वह जया के साथ जा सकते हैं. साल 1973 में ही दोनों ने शादी कर ली.

रेखा-अमिताभ

फोटो- ट्विटर

फिल्म ‘दो अनजाने’ में पहली बार अमिताभ-रेखा ने साथ काम किया. रेखा अमिताभ के करीबियों के किस्से भी खूब सामने आए, कहा जाता है कि अमिताभ ने भी रेखा को दिल दिया और साल 1981 में सिलसिला फिल्म में दोनों की करीबियों के खूब किस्से उड़े, इसी फिल्म के बाद से अमिताभ-रेखा के प्यार का सिलसिला थम गया, ये दोनों की आखिरी फिल्म थी.

जब अमिताभ को मिला दूसरा जन्म

साल 1982 में फिल्म ‘कुली’ की शूटिंग में एक सीन के दौरान अभिनेता पुनीत इस्सर के घूंसे से गंभीर रूप से घायल हो गए. उनकी आंत में गहरी चोट लगी थी, अमिताभ काफी दिनों तक अस्पताल में भर्ती रहे, इधर लोगों ने यज्ञ और दुआओं का दौर शुरू कर दिया था. लोगों की आस्था काम आई और अमिताभ सही सलामत वापस आए

राजनीति में एंट्री

फोटो-ट्विटर

अमिताभ ने राजीव गांधी के कहने पर राजनीति में भी कदम रखा, उन्होंने 1984 में उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम हेमवतीनंदन बहुगुणा को हराकर इलाहाबाद से लोकसभा का चुनाव जीता, लेकिन बोफोर्स तोप सौदे में अपना नाम उछाले जाने के बाद उन्होंने राजनीति से दूरी बना ली.

पद्मविभूषण हैं अमिताभ

हाल ही में उन्हें ‘पीकू’ के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिला, अपने सालों के लंबे करियर में उन्हें कई फिल्म फेयर अवॉर्ड, राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल हुए साल 2000 में उन्हें सदी का महानायक होने का तमगा हासिल हुआ. ‘अमर अकबर एंथोनी’, ‘डॉन’, ‘हम’ ‘ब्लैक’ और ‘पा’ जैसी फिल्मों के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार भी जीत चुके हैं अमिताभ.

साल 1984 में अमिताभ को पद्मश्री, साल 2001 में पद्मभूषण और 2015 में पद्मविभूषण से नवाजा गया. गजब इंडिया की तरफ से अमिताभ को जन्मदिन की शुभकामनाएं.

Leave a Reply