srk

शाहरुख-गौरी की शादी को 27 साल पूरे, इनका प्यार बॉलीवुड फिल्मों से कम नहीं !

PEOPLE

बॉलीवुड के रोमांस किंग शाहरुख खान और गौरी खान की शादी को आज 27 साल पूरे हो गए हैं। शाहरुख-गौरी की शादी 6 साल रिलेशन में रहने के बाद 25 अक्टूबर 1991 को हिंदू रस्मों रिवाज से हुई थी। उनके मिलने से शादी करने तक का किस्सा बेहद ही दिलचस्प रहा है। दोनों के प्यारे रिश्ते की मिसाल सोशल मीडिया पर छाई रहती है।

शाहरुख खान ने पिछले 25 साल फिल्म इंडस्ट्री पर राज किया है. ऐसे में शाहरुख की इन बुलंदियों के पीछे कहीं न कहीं गौरी खान का भी बड़ा हाथ है. आज भी शाहरूख खान पर करोड़ों लड़कियां फिदा हैं लेकिन SRK का दिल तो बस गौरी पर ही फिदा है.

srk
शाहरुख-गौरी

शाहरूख और गौरी के प्यार की कहानी बिल्कुल बॉलीवुड फिल्मों की तरह है, जिसमें प्यार है नाराजगी है और फिर हैप्पी एंडिंग भी है

कैसे हुई SRK-गौरी की मुलाकात

SRK और गौरी का बचपन दिल्ली में ही बीता है. साल 1984 में एक पार्टी के दौरान पहली बार शाहरूख खान ने गौरी को देखा था. उस समय शाहरूख 19 साल के थे और गौरी महज 14 साल की. इसी पार्टी में शाहरुख को गौरी से पहली नजर का प्यार हो गया लेकिन बता दें कि गौरी को शाहरुख खान कुछ खास नहीं लगे थे. कई कॉमन फ्रेंड्स के यहां मुलाकातों के बाद शाहरुख को गौरी का नंबर मिल गया.

शाहीन बनकर SRK बात किया करते थे

शाहरुख खान गौरी के घर शाहीन नाम की लड़की बनकर बात किया करते थे. गौरी शाहीन नाम सुनकर समझ जाती थी कि शाहरूख की ही कॉल है. कभी गौरी नाराज हुआ करती थी तो SRK बॉलीवुड के गाने भी गाया करते थे. एक दिन शाहरूख ने गौरी से कह दिया कि- ‘मैं तुमसे शादी करना चाहता हूँ’ इसके बाद शाहरूख ने गौरी का जवाब तक नहीं सुना और वहां से चले गए.

दोनों परिवारों में काफी अंतर

गौरी उच्च वर्ग के ब्राह्मण खानदान से संबंध रखती थी. गौरी के पिता रिटायर्ड आर्मी ऑफिसर थे. वहीं शाहरुख खान के पिता मीर ताज मोहम्मद का निधन कैंसर से हुआ था, उस समय शाहरूख 15 साल के थे. SRK की माँ ही उनकी परवरिश कर रही थी. ऐसे में धर्म के साथ ही साथ शाहरूख-गौरी के आर्थिक हालातों में भी काफी अंतर था. और गौरी के पिता नहीं चाहते थे कि गौरी, शाहरूख के करीब आए.

बिन बताए गौरी मुंबई चली गईं.

गौरी जब 19 की हो गई थी और दिल्ली विश्वविद्यालय के एक कॉलेज में ग्रेजुएशन कर रही थी. वहीं शाहरूख सीरियल में काम कर रह थे. गौरी के 19वें जन्मदिन पर शाहरूख ने ढेर सारी तैयारी की, गौरी शाहरूख से मिलने भी आईं, लेकिन अगले ही दिन गौरी ने शाहरूख को बताया भी नहीं और मुंबई चली गईं. मुंबई में ढूंढते-ढूंढते काफी मुश्किलों से कहीं रास्ते में ही शाहरूख और गौरी की मुलाकात हुई. दोनों अब शायद समझ गए थे कि वो एक दूसरे के लिए ही बने हैं.

एक दूसरे के हो गए शाहरुख-गौरी

साल 1991 में दोनों एक दूसरे के हो गए।शाहरूख उस समय स्टेबल नहीं थे और ना ही जानते थे कि वो बॉलीवुड में कुछ कर पाएंगे भी या नहीं, इसी वजह से गौरी के परिवार वाले इस शादी से बिल्कुल खुश नहीं थे. अब शाहरुख बॉलीवुड के बादशाह हैं करोड़ों लड़कियां उन पर अब भी फिदा हैं, नाम है पैसा है और दुनिया की हर सुख सुविधा है ऐसे में गौरी के परिवार को उनका फैसला सही दिखता होगा.

(SRK)

ये भी पढ़ें:राजनेताओं के इश्क की ये कहानियां सुर्खियों में रहीं, 5 दिग्गजों के मोहब्बत की दास्तां

Leave a Reply