मंगपू, चाय के बागानों के साथ ऑर्किड और कुनैन के पेड़ इस जगह को और भी सुंदर बनाते हैं

TRAVEL

घूमने के लिए किसी खूबसूरत जगह की तलाश कर रहें हैं, तो दार्जलिंग स्थित मंगपू आपके लिए एक परफेक्ट जगह हो सकती है। यहां के चाय के बागानों के साथ ऑर्किड और कुनैन के पेड़ इस जगह को और भी सुंदर बनाते हैं। ये छोटा सा गांव छुट्टियां मनाने के लिए सबसे सही है। लो‍कप्रिय हिल स्‍टेशन दार्जीलिंग से महज़ एक घंटे की दूरी पर स्थित है मुंगपू उत्तरी बंगाल के इस रास्‍ते में बहुत ही कम लोग रहते हैं।

telegraphindia.com

 

कब जाएं मंगपू

इस पहाड़ी शहर में घूमने का सबसे सही समय जून का महीना है और आप यहां अक्‍टूबर से दिसंबर के बीच भी आ सकते हैं। इन महीनों में यहां का मौसम बहुत सुहावना होता है। वैसे तो आप इस जगह सालभर आ सकते हैं लेकिन इन महीनों में यहां का तापमान बिलकुल सही रहता है इसलिए इस दौरान यहां पर्यटकों की भारी भीड़ रहती है।

कलिजहोरा झरने का खूबसूरत नज़ारा

इस शहर से शानदार कलिजहोरा झरने का खूबसूरत नज़ारा दिखाई देता है। 550 फीट की ऊंचाई से गिरते इस झरने का पानी तीस्‍ता नदी में जाकर मिल जाता है। महानंदा वन्‍यजीव अभ्‍यारण्‍य के उत्तरी ओर बहती है तीस्‍ता नदी। इसके आगे डिंचेन शेराप चोएलिंग गोंपा आता है जहां बौद्ध धर्म के लोग प्रार्थना करते हैं।

 

दार्जीलिंग से मंगपू तक का पहाड़ी सफर

दार्जीलिंग के चाय के बागनों से मंगपू तक का पहाड़ी सफर बेहद सुहावना है और इस बीच आपको कई खूबसूरत दृश्‍य भी दिखाई देंगें। कलिंपोंग के पहाड़ी जिले में स्थित मुंगपू तीस्‍ता नदी से 4000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यहां मंगपू सिंबिडियम ऑर्चिड पार्क में 150 से ज्‍यादा ऑर्चिड की वैरायटी पाई जाती है।

 

 

Leave a Reply