व्लादिमीर पुतिन

भारत के दौरे पर हैं रूस के सुपरमैन राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, उनकी निजी जिंदगी के बारे में हर खास बात जानिए

FACTS, PERSONALITIES

भारत के सबसे करीबी दोस्तों के तौर पर रूस का नाम गिना जाता है. फिलहाल, रूस के दबंग राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन दो दिन के भारत दौरे पर हैं. भारत और रूस के बीच अहम रक्षा करार के लिए उनका ये दौर बेहद खास है. लेकिन राजनीति से अलग पुतिन की दमदार पर्सनालिटी अपने आप में खास पुतिन साल 1999 से रूस की सत्ता पर काबिज हैं. विरोधी ये भी कहते हैं कि सिस्टम का इस्तेमाल करके पुतिन ऐसी जीत हासिल कर लेते हैं. एक खुफिया एजेंट के तौर पर अपना करियर शुरू करने वाले पुतिन, राष्ट्रपति पद तक कैसे पहुंचे.

व्लादिमीर पुतिन के पिता फोरमैन का काम करते थे

7 अक्टूबर 1952 में सोवियत संघ के लेनिनग्राद में पैदा हुए व्लादिमीर पुतिन के पिता एक कारखाने में फोरमैन का काम किया करते थे. परवरिश ऐसे अपार्टमेंट में हुई जहां तीन परिवार एक साथ रहा करते थे..साल 1975 में व्लादिमीर पुतिन रूस की खुफिया एजेंसी KGB में भर्ती हुए. बतौर जासूस उन्होंने कई देशों में रूस के लिए काम किया. कई साल तक ईस्ट जर्मनी में रहे, जर्मन-इंग्लिश सीखी. साल 1991 तक वो इसी एजेंसी में काम करते रहे. उनको कई सालों तक विदेशियों और वाणिज्यिक दूतावासों के अधिकारियों की निगरानी का काम मिलता रहा.

साल 1991 में वो राजनीति में आए

साल 1991 में उनकी राजनीति में एंट्री हुई वो सेंट पीटर्सबर्ग के मेयर कार्यालय में फॉरेन अफेयर्स कमेटी के चीफ बने. साल 1997 में उन्हें क्रेमलिन का डिप्टी चीफ एडमिनिस्ट्रेटर बनाया गया, उस दौरान रूस में बोरिस एल्तसिन की सरकार थी. बोरिस के एक स्कैंडल में फंसने के बाद 1999 में पुतिन पहले कार्यवाहक पीएम, फिर पीएम और फिर राष्ट्रपति बने. तब से लेकर अबतक वो कभी पीएम कभी राष्ट्रपति के तौर पर काम कर रहे हैं. खास बात ये है कि पुतिन के ही इशारे पर उनके खास मेदवेदेव राष्ट्रपति बने उस दौरान पुतिन प्रधानमंत्री थे बाद में पुतिन एक बार फिर खुद राष्ट्रपति बन गए. इस बार फिर वो चुनाव जीत गए हैं.
पुतिन की फिटनेस का दुनियाभर में मिसाल माना जाता है

फिटनेस के लिए मिसाल हैं व्लादिमीर पुतिन

व्लादिमीर पुतिन 65 साल की उम्र पूरा कर चुके हैं लेकिन उनकी फिटनेस देखते ही बनती है. पुतिन को इस उम्र में जूडो खेलते, रूसी मार्शल आर्ट सांबो की प्रैक्टिस करते, हाथों में राइफल लेकर जंगल में घूमते, खतरनाक पैराग्लाइंडिग करते देखा जा सकता है. और हां घुड़सवारी भी उन्हें पसंद हैं. साल 2010 में पुतिन ने वेस्टर्न रशिया में लगी आग से कई लोगों को बाहर निकालकर अपने जलवे दिखाए थे. अभी 2-4 साल पहले व्लादिमीर पुतिन को लेकर अभी अजीबोगरीब बातें फैली थीं. कहा जाने लगा था कि पुतिन अमर हैं, वो पिछले 4-5 दशक से धरती पर हैं तस्वीरें भी पेश की जाने लगी थी. क्या तर्क थे आपको बताते हैं. पुतिन की कई तस्वीरें मीडिया में जारी हुई थी. 1920 और 1940 की दो अलग-अलग तस्वीरे रूसी सैनिकों की थी जिनकी शक्ल पुतिन से मिलती थी. एक टीवी चैनल ने यहां तक दावा कर दिया की पुतिन की असली उम्र 100 साल से भी ज्यादा है वो सुपरमैन हैं. एक तस्वीर में उन्हें 19वीं सदी के ग्रीस के एक आर्मी ऑफिसर के रूप में दिखाया गया और दावा किया कि ये पुतिन ही हैं जो अमर हैं.

पुतिन जो भी हैं फिलहाल तो दुनिया की सबसे बड़ी शक्तियों में से एक हैं, जिनका दबदबा साल दर साल बढ़ता ही जा रहा है.

Leave a Reply