भारतीय सेना में शामिल जबरदस्त हमले की क्षमता रखने वाला टैंक टी-90 भीष्म

THE NATION

इतिहास गवाह है कि किसी भी लड़ाई को जीतने के लिए सेना के हथियारों के साथ-साथ सबसे बड़ी भूमिका तोपखानों की रहती है। आज के वक्त में जहां आसमान में लड़ाकू विमानों ने राज करते हैं, वहीं जमीन पर टैंकों का एकछत्र राज रहा है। आज किसी भी थल सेना को पहली नजर में उसकी मशीनी ताकत यानी आर्म्ड डिवीजन से आंका जाता है।

भारतीय सेना के पास ऐसे आधुनिक टैंक हैं, जिनका मुकाबला करना पाकिस्तान तो क्या चीन के बस में भी नहीं है। चीन के पास हल्के और कम दूरी वाले टैंक हैं, लेकिन भारत के पास मौजूद यदि इन पांच टैंकों को युद्ध में उतार दिया जाए तो ये दुनिया की बड़ी से बड़ी सेना के छक्के छुड़ा सकते हैं। आइये आपको बताते हैं, वो पांच टैंक जिनके नाम से चीन और पाकिस्तान खौफ खाते हैं।

भीष्म

2004 में भारतीय सेना में शामिल किया गया टी-90 भीष्म टैंक में जबरदस्त हमले की क्षमता है। भीष्म में रात में देखने में काम आने वाले उपकरण तथा हर तरह के गोले दागने की सुविधाएं हैं। टी-72 टैंक के मुकाबले टी-90 टैंक काफी उन्नत है और यह चार किलोमीटर के दायरे में गोले दाग सकता है।

Leave a Reply