क्या ABVP भी इसमें शामिल है? DUSU अध्यक्ष अंकिव बसोया को देना होगा इस्तीफा

OPINION

आपको याद होगा कि कुछ दिन पहले ही DUSU के नए नवेले अध्यक्ष अंकिव बसोया का आजतक न्यूज चैनल पर एक इंटरव्यू आया था. जिसमें रिपोर्टर अंकिव से कुछ सवाल पूछते नजर आते हैं और अंकिव सवालों के गोलमोल जवाब देते हुए. न तो वो अपने ग्रेजुएशन के डिटेल दे पा रहे थे, यहां तक की ये भी साफ-साफ नहीं बता पा रहे थे कि आखिर वो कौन-कौन सा सब्जेक्ट लेकर पास हुए हैं. ऐसे में बाद में उनकी खूबर किरकिरी हुई, फर्जी डिग्री का आरोप लगा. वो बीजेपी के छात्र संगठन एबीवीपी के कार्यकर्ता हैं और एबीवीपी के बैनर तले ही उन्होंने चुनाव लड़ा था. अब ऐसे में एबीवीपी ने ही उनसे इस्तीफा मांग लिया है.

फोटो-लोकमत न्यूज

अंकिव बसोया को इस्तीफा देने के लिए कहा है: ABVP

एबीवीपी ने एक प्रेस रिलीज जारी कर इस्तीफा मांगने की बात कही है. अब ऐसे में इतना तो साफ है कि कहीं न कहीं, आरोप तो एबीवीपी पर ही लगने चाहिेए कि क्या सोचकर उन्होंने फर्जी डिग्री के आरोपी को डूसू अध्यक्ष का टिकट दिया. अंकिव पर साफ-साफ आरोप है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के एमए प्रोग्राम में एडमिशन लेने के लिए तिरुवल्लुवर यूनिवर्सिटी की अंडर ग्रेजुएट की फर्जी डिग्री ली है. क्या एबीवीपी की जिम्मेदारी नहीं थी कि वो अपने कैंडिडेट की डिग्री तक जांच ले. जब भी दिल्ली यूनिवर्सिटी में चुनाव के बाद नतीजे आते हैं तो पूरा छात्र संघ ही नरेंद्र मोदी या बीजेपी के बड़े पदाधिकारियों से मिलता है. एक राष्ट्रीय पार्टी और सत्ताधारी पार्टी के लिए क्या किरकिरी की बात नहीं है.

Leave a Reply