Travel Time: ऐतिहासिक और धार्मिक स्थलों की सैर के लिए जरुर आएं पालघर

TRAVEL

वैसे तो भारत में धार्मिक और ऐतिहासिक स्थलों की कमी नहीं है, लेकिन कुछ जगहें बेहद खास होती है, ऐसी ही एक जगह है पालघर। पश्चमी भारत में स्थित महाराष्ट्र के ठाणे जिले में स्थित पालघर एक बेहद ही खूबसूरत हॉलिडे डेस्टिनेशन है। यहां ऐतिहासिक और धार्मिक स्‍थलों की भरमार है। यहां आप समुद्र की ऊँची उठती हुई लहरों की अठखेलियों को निहारे सकते हैं। गौरवशाली इतिहास को जान और समझ सकते हैं। आप यहां चीकू उत्सव में भी हिस्सा ले सकते हैं।

Lush Green Home Stay

ऐतिहासिक महत्व

आप यहां केलवा किला भी देख सकते हैं। इस किले का निर्माण सोलहवीं शताब्‍दी में पुर्तगालियों द्वारा किया गया था। इसे शिवाजी रक्षा संबंधी कार्यों के लिए प्रयोग किया करते थे। इतिहास, कला और वास्‍तुकला के संदर्भ में ये किला काफी खूबसूरत है।

कैसे पहुंचे पालघर

पालघर जाने का सबसे सही रास्‍ता सड़क मार्ग है। इस शहर की सड़क व्‍यवस्‍था काफी दुरुस्‍त है और पालघर के लिए कई प्रमख शहरों से नियमित बसें चलती हैं। मंबई से पालघर की दूरी 115 किमी है।

पालघर

इस जगह पर सभी उम्र के लोगों के लिए कुछ न कुछ है। इस जगह पर एक बार आने के बाद आपका मन यहां बार-बार आने का करेगा। केलवा तट यहां का सबसे लोकप्रिय तट है। इस तट का विस्‍तार 8 किमी है और यही इसकी खास बात भी है। इसे देश के सबसे साफ और शांत तटों में से एक माना जाता है। यहां पर सुरु के वृक्ष अधिक हैं।

केलवा किला

इस तट पर केल्‍वा किला भी अन्‍य प्रमुख आकर्षण है। इस किले तक पहुंचने के लिए चढ़ाई करनी पड़ती है। सालों पहले सोलहवीं शताब्‍दी में केलवा किले को पुर्तगालियों द्वारा बनवाया गया था और इसे शिवाजी रक्षा संबंधी कार्यों के लिए प्रयोग किया करते थे। इतिहास, कला और वास्‍तुकला के संदर्भ में ये किला काफी खूबसूरत है।

शिरगांव किला

शिरगांव तट से शिरगांव किला बहुत नज़दीक है। माना जाता है कि इस पर मराठा शासक शिवाजी की हुकुमत थी। अन्‍य ऐतिहासिक किलों की तरह इस किले को भी शत्रुओं पर नज़र रखने और आक्रमणों से बचने के लिए प्रयोग किया जाता था।

राम मंदिर

यहां का प्रमुख आकर्षण राम मंदिर भी है। किवदंती के अनुसार रावण के भाई अहिरावण और महिरावण – भगवान राम और उनके भाई को कैद कर यहीं लेकर आए थे। इसी जगह से हनुमान जी ने राम जी और लक्ष्‍मण जी को कैद से मुक्‍त करवाया था। इसलिए इस स्‍थान का धार्मिक महत्‍व अधिक है।

Leave a Reply