Travel Time: यागची नदी के किनारे बसा दक्षिण की काशी कहलाने वाले ख़ूबसूरत शहर बेलूर

TRAVEL

बेलूर कर्नाटक राज्य के हसन जिलाहसन जिले का एक कस्बा है। बेलूर को मुख्यतः मन्दिर और शिल्प कला का दर्शन Travelकराने वाले स्थान के रूप में जाना जाता है।बेलूर, कर्नाटक के सबसे प्रसिद्ध स्‍थलों में से एक है। इसे मंदिरों का शहर भी कहा जाता है जो बंगलौर से 220 किमी. की दूरी पर स्थित है। यह शहर यागची नदी के किनारे बसा हुआ है, बेलूर को दक्षिण का काशी भी कहा जाता है, क्‍योंकि यहां काफी मंदिर है।

विकिपीडिया

पर्यटन स्‍थल और ऐतिहासिक स्थल

होयसला शासक कला और शिल्प के संरक्षक थे। बेलूर और हेलिबिड में इन्होंने भव्य मंदिरों का निर्माण कराया जो आज भी उसी शान से खड़े हैं। हैलेबिडु के साथ जुड़वा नगर कही जाने वाली यह जगह तीन शताब्दियों तक होयसल वंश का गढ़ था।बेलूर और उसके आसपास स्थित पर्यटन स्‍थल ऐतिहासिक दृष्टि से बंगलौर का महत्‍व काफी ज्‍यादा है क्‍योंकि यह होयसाल वंशजों की राजधानी हुआ करती थी। बेलूर से 16 किमी. दूर एक प्राचीन शहर हालेबिड़ भी स्थित है जो किसी काल में होयसाल की राजधानी हुआ करती थी। यह दो शहर, होयसाल के शासन और वास्‍तुकला के कारण जाने जाते है।

चेन्‍ना केशवा मंदिर

बेलूर में सबसे अच्‍छा मंदिर चेन्‍ना केशवा मंदिर है, जो भगवान विष्‍णु को समर्पित है, इस मंदिर की संरचना काफी विशाल और भव्‍य है। इस मंदिर में कई शिलालेख है जो इस मंदिर को जीवंतता प्रदान करते है। यहां के मंदिरों में दक्षिण भारत की सुंदर वास्‍तुकला स्‍पष्‍ट दिखाई देती है। किंवदंतियों के अनुसार, इस मंदिर को बनने में एक सदी से ज्‍यादा का समय लगा था।

बेलूर के अन्‍य पर्यटक स्‍थल

बेलूर के अन्‍य पर्यटकों स्‍थलों को देखना चाहते है तो यहां के लक्ष्‍मी नारायण मंदिर को देखे जो डोड्डागादावल्‍ली में बना हुआ है और यहां श्रावनबेलगा में जैन स्‍मारक भी स्थित है्। बेलूर कैसे पहुंचे बेलूर, सड़क और रेल द्वारा अच्‍छी तरह से जुड़ा हुआ है। यहां का नजदीकी रेलवे स्‍टेशन हसन में स्थित है जो बेलूर से 38 किमी. की दूरी पर स्थित है। यहां से राज्‍य के अन्‍य शहरों के लिए नियमित रूप से बसें भी मिलती है।

बेलूर से हसन, बंगलौर, मंगलौर और मैसूर के लिए बसें आसानी से मिल जाती है। बेलूर किस मौसम में जाएं बेलूर की यात्रा की सबसे अच्‍छा समय सर्दियों के दौरान होता है.

Leave a Reply