Knowledge Book: जानिए प्री, पोस्ट और एग्जिट पोल में क्या है फर्क है?

FACTS

राजस्थान और तेलंगाना में वोटिंग के बाद हर न्यूज चैनल पर एग्जिट पोल-एग्जिट पोल सुनाई देगा. लेकिन हर किसी के अलग जुमले,अलग आंकड़े और चेहरे. जानिए आखिर क्यों, क्या,कैसे और कब, तैयार किया जाता है आपको दिखाया जाने वाला प्री पोल, पोस्टपोल, और एग्जिट पोल. इन तीनों को समझने के लिए सबसे पहले आपको ओपिनियन पोल समझना पड़ेगा क्योंकि ये तीनों ही तरीके के पोल, ओपिनियन पोल से उपजते हैं. आइए जानते हैं इसके बारे में….

ओपिनियन पोल क्या है?

ओपिनियन पोल का सीधा मतलब है जनता की राय. जनता की राय को समझने यामापने के लिए अलग – अलग तरह के वैज्ञानिक तरीकों का प्रयोग कियाजाता है. चुनावी सर्वे में हमेशा रैंडम सैंपलिंग का ही प्रयोग होता है. देश की बड़ी सर्वे एजेंसी लोकनीति – CSDS भी रैंडम सैंपलिंग ही करती है. इसमें सीट के स्तर पर, बूथ स्तर पर और मतदाता स्तर पर रैंडम सैंपलिंगहोती है. मान लीजिए किसी बूथ पर 1000 मतदाता है. उसमें से 50लोगों का इंटरव्यू करना है. तो ये 50 लोग रैंडम तरीके से शामिल किए जाएंगे.तो इसके लिए एक हज़ार का 50 से भाग दिया तो उत्तर आ गया 20.

इसके बाद वोटर लिस्ट में से कोई एक ऐसा नंबर रैंडम आधार पर लेंगे जो 20 से कम हो. जैसे मान लीजिए आपने 12लिया. तो वोटर लिस्ट में 12वें नंबर पर जो मतदाता होगा वो आपका पहला उत्तरदाता है जिसका आप इंटरव्यू करेंगे, फिर उस संख्या 12में आप 20, 20 ,20 जोड़ते जाइये और जो संख्या आए उस नंबर के मतदाता का इंटरव्यू करते जाइए.

ओपिनियन पोल की तीन शाखाएं हैं

प्री पोल,एग्जिट पोल और पोस्ट पोल. आम तौर पर लोग एग्जिट पोल और पोस्ट पोल को एक ही समझ लेते हैंलेकिन ये दोनों एक दूसरे से काफी अलग हैं.

प्री पोल क्या होता है?

चुनाव की घोषणा के बाद और मतदान तिथि से पहले जो सर्वे होते हैं उन्हें प्री पोल कहाजाता है. जैसे मान लीजिए कि राजस्थान में चुनाव 7 दिसंबर को हैऔर चुनाव की घोषणा 6 अक्टूबर को होती है तो ऐसी स्थिति में 6अक्टूबर के बाद और 7 दिसंबर के पहले जो सर्वे होंगे उन्हें प्रीपोल कहा जाएगा.

एग्जिट पोल क्या है?

एग्जिट पोल हमेशा मतदान के दिन ही होता है. एग्जिट पोल में मतदानदेने के तुरंत बाद जब मतदाता पोलिंग बूथ से बाहर निकलता है तो उसकी राय पूछी जातीहै और फिर उसका विश्लेषण किया जाता है. इसे एग्जिट पोल कहते हैं. जैसे मान लीजिएकि 7 दिसंबर को राजस्थान में चुनाव है और शाम 7 बजे आपराजस्थान का चुनावी सर्वे देख रहे हैं. यानी की आप एग्जिट पोल देख रहे हैं.क्योंकि मतदाता जैसे ही वोट देकर बाहर निकलता है उसकी राय पूछी जाती है और फिरइकट्ठा की गई जानकारियों का विश्लेषण किया जाता है. आमतौर पर टीवी चैनल चुनाव खत्महोने के तुरंत बाद एग्जिट पोल ही दिखाते हैं. कई बार आपने ध्यान दिया होगा किएग्जिट पोल गलत हो जाते हैं. इसकी चर्चा इस लेख के आखिर में करेंगे.

पोस्ट पोल क्या है?

पोस्ट पोल हमेशा मतदान के बाद होता है. यानी की मतदान के अगले दिन याफिर उसके एक दो दिन बाद. जैसे मान लीजिए कि 7 दिसंबर कोराजस्थान में चुनाव है और सर्वे करने वाला व्यक्ति 8 दिसंबर,9 दिसंबर या फिर 10 दिसंबर को जाकर मतदाता की राय ले तो उसे पोस्टपोल सर्वे कहेंगे. पोस्ट पोल सर्वे, एग्जिट पोल सर्वे के मुकाबले परिणाम के ज्यादा करीब होते हैं.

Leave a Reply