धाकड़ IAS बी. चंद्रकला पर हुई CBI कारवाई, जानिए कौन है चंद्रकला

PERSONALITIES

सीबीआई (CBI) ने अवैध खनन के मामले में शनिवार को आईएएस बी. चंद्रकला (B. Chandrakala) के लखनऊ स्थित आवास समेत 12 जगहों पर छापे मारे। यह कार्रवाई 2012 हमीरपुर (Hamirpur) खनन घोटाले के मामले में की गई।

चंद्रकला के आवास के अलावा सीबीआई ने लखनऊ, नोएडा, हमीरपुर, जालौन और कानपुर में बसपा और सपा नेताओं के घर पर भी छापे मारे। चंद्रकला वहीं IAS अफसर हैं जो अपने दबंग अंदाज और बयान को लेकर चर्चा में रही हैं। वे कभी रिपोर्टर तो कभी सेल्फी लेने वाले युवक को सरेआम फटकार लगा चुकी हैं। यहां तक कि देर रात ड्यूटी ज्वाइन करने तक पहुंच गई थीं। उनकी वर्तमान पोस्टिंग दिल्ली में है।

बी चंद्रकला के बारे में
बी चंद्रकला का जन्म तेलंगाना के करीमगनर जिले में हुआ था। वह 2008 बैच की यूपी कैडर की आइएएस अधिकारी हैं। उन्होंने केंद्रीय विद्यालय से 12वीं की परीक्षा पास की। इसके बाद हैदराबाद के कोटि महिला कॉलेज से स्नातक की पढ़ाई की। इसके बाद ही उनकी शादी हो गई। शादी के बाद उन्होंने डिस्टेंस एजुकेशन से अर्थशास्त्र में पोस्ट ग्रेजुएशन किया। इसके बाद पति के सपोर्ट से उन्होंने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी शुरू की। यूपीएससी परीक्षा में उनकी 409वीं रैंक थी। बताया जाता है कि बी चंद्रकला के आईएएस बनने में उनके पति का भी महत्वपूर्ण योगदान है। उनकी 10-12 साल की एक बेटी भी है।

भ्रष्टाचार के आरोप
भ्रष्टाचारी अधिकारियों के खिलाफ सख्त रुख रखने वाली आईएएस बी चंद्रकला पर भी भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं। उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का एक मामला कोर्ट में भी लंबित है। ये मामला उस वक्त का है जब बी चंद्रकला इलाहाबाद की फूलपुर तहसील में एसडीएम थीं।

फूलपुर तहसील के सांवडीह गांव की रहने वाली अनंती देवी का आरोप है कि चंद्रकला ने एसडीएम रहते हुए उनके गांव की आसमा बानो से सांठगांठ कर वर्ष 2011 में उनके घर के सामने की जमीन पर कब्जा कर लिया। उन्होंने एसडीएम को तमात दस्तावेज दिए। मामला हाईकोर्ट में लंबित होने की भी जानकारी दी।

बावजूद एसडीएम ने लेखपाल और कानूनगो से मनमानी रिपोर्ट लगवाकर आसमा बानों के पक्ष में फैसला कर दिया। अनंती देवी ने इस फैसले को सीजेएम कोर्ट में चुनौती दी। सीजेएम कोर्ट ने मामले में एसडीएम समेत अन्य पक्षों को नोटिस जारी किया था। इस नोटिस के खिलाफ चंद्रकला ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसे उच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया था। ये बी चंद्रकला के लिए बड़ा झटका था।

Leave a Reply