दूसरों नेताओं से अलग एक्टिविस्ट की तरह राजनीति करने वाले राहुल गांधी के बारे में 10 खास बातें

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बारे में लाख चुटकुले तैयार किए जाते हैं. सत्ताधारी बीजेपी सार्वजनिक मंच से उनका मजाक तक उड़ाती है लेकिन राहुल के बारे में एक बात जो दूसरे नेताओं से अलग है. कुछ भी बनावटी नहीं है. कपड़ा पहनने के तरीके से लेकर भाषणों के शब्द कुछ भी बनावटी या जबरदस्ती के ठूंसे हुए नहीं लगते हैं. एक आम आदमी जैसे बात करता है, कभी गलतियां करता है तो कभी उन गल्तियों को मान भी लेता […]

Read more

बाहुबली-13: कृष्णदेवराय, विजयनगर के सर्वाधिक कीर्तिवान राजा

कृष्णदेवराय विजयनगर के सर्वाधिक कीर्तिवान राजा थे। वे स्वयं कवि और कवियों के संरक्षक थे। तेलुगु भाषा में उनका काव्य अमुक्तमाल्यद साहित्य का एक रत्न है। स्वयं कृष्णदेवराय भी आंध्रभोज के नाम से विख्यात थे। भारत की राजनीतिक स्थिति डाँवाडोल जिन दिनों वे सिंहासन पर बैठे उस समय दक्षिण भारत की राजनीतिक स्थिति डाँवाडोल थी। पुर्तगाली पश्चिमी तट पर आ चुके थे। कांची के आसपास का प्रदेश उत्तमत्तूर के राजा के हाथ में था। उड़ीसा के गजपति नरेश ने उदयगिरि […]

Read more

महाराष्ट्र के फायरब्रांड नेता राज ठाकरे, जिसका राजनीतिक कद लगातार गिर रहा है, जानिए खास बातें

राज ठाकरे को कभी बाला साहेब का उत्तराधिकारी और शिवसेना का अगला प्रमुख बताया जाता था. बाला साहेब के भतीजे राज ठाकरे और बाला साहेब के बेटे उद्धव ठाकरे में हुए कथित विवाद के बाद राज शिवसेना से अलग हो गए. अपने शिवसेना समर्थकों के साथ मिलकर उन्होंने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का गठन किया. शुरुआत में इस पार्टी को तवज्जों मिली लेकिन अब जनाधार धीरे धीरे खत्म होता दिख रहा है. जो अक्सर उत्तर भारतीयों के साथ विवाद के लिए […]

Read more

वो वीर क्षत्राणी जिसने युद्ध पर जाते पति को निशानी के रूप में अपना सर काट कर दे दिया

राजस्थान की इस पूज्य धरा के लिए कविवर रामधारी सिंह दिनकर ने कहा था की जब मैं इस पूज्य धरा पर कदम रखता हूं तो मेरे पैर एकाएक ही रुक जाते है। मेरा हृदय सहम जाता है की कही मेरे पैर के नीचे की वीर की समाधी या किसी वीरांगना थान ना हो। यह वाक्य राजस्थान के परिचय में कहे गए है। ऐसे बहुत से लोगो द्वारा कहे गए शब्द राजस्थान के अमर इतिहास को बताते दिखाई पड़ते है। इसी […]

Read more

रायमलोत कल्ला जो, शीश धड़ से अलग होने के बाद भी लड़ता- लड़ता अपनी रानी के पास जा पहुंचा

आगरा के किले में अकबर का खास दरबार लगा हुआ था आज बादशाह अकबर बहुत खुश था, सयंत रूप से आपस में हंसी- मजाक चल रहा था। तभी बादशाह ने अनुकूल अवसर देख बूंदी के राजा भोज से कहा ” राजा साहब हम चाहते है आपकी छोटी राजकुमारी की सगाई शाहजादा सलीम के साथ हो जाये।” राजा भोज ने तो अपनी पुत्री किसी मुगल को दे दे ऐसी कभी कल्पना भी नहीं की थी। उसकी कन्या एक मुगल के साथ […]

Read more

जन्मदिन: बिंदास, बेधड़क, बेबाक लालू प्रसाद यादव की जिंदगी के बारे में हर खास बात

बिहार की राजनीति के अब भी सबसे बड़े चेहरे हैं लालू प्रसाद यादव. अपनी बेबाक बात, बिंदास अंदाज और बेधड़क इमेज के कारण वो हमेशा सुर्खियों में रहते हैं. छात्र राजनीति से देश की पॉलिटिक्स में कदम रखने वाले लालू प्रसाद ने बेहद तेजी से शोहरत कमाई है, इसके पीछे उनका गजब का मेहनत भी है. फिलहाल, लालू प्रसाद चारा घोटाला मामले में जेल की सजा काट रहे हैं, अस्वस्थ्य हैं लेकिन अब भी कांग्रेस समेत बड़ी पार्टियों को उनके […]

Read more

जानिए कैसे होती है PM नरेंद्र मोदी की सुरक्षा, कौन-कौन सी फोर्स रहती है तैनात, कैसा होता है काफीला

भीमा-कोरेगांव हिंसा की जांच करते करते महाराष्ट्र पुलिस आरोपियों तक पहुंची तो उसको कुछ ऐसे दस्तावेज मिले जिनसे पता चला कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रची जा रही है। वो भी पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या की शैली में। दरअसल नरेंद्र मोदी भारत के ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिनकी जान को सबसे ज्यादा खतरा रहता है। कई आतंकी संगठनों के निशाने पर पीएम मोदी हैं। इसलिए पीएम जहां से गुजरते हैं वहां जमीन से लेकर आसमान तक […]

Read more

राजस्थान प्रान्त के कछवाहा वंश के सर्वाधिक प्रतापी शासक  सवाई जयसिंह जिन्होंने बसाया जयपुर नगर

सवाई जयसिंह या द्वितीय जयसिंह  अठारहवीं सदी में भारत में राजस्थान प्रान्त के नगर/राज्य आमेर के कछवाहा वंश के सर्वाधिक प्रतापी शासक थे। सन 1727 में आमेर से दक्षिण छः मील दूर एक बेहद सुन्दर, सुव्यवस्थित, सुविधापूर्ण और शिल्पशास्त्र के सिद्धांतों के आधार पर आकल्पित नया शहर ‘सवाई जयनगर’, जयपुर बसाने वाले नगर-नियोजक के बतौर उनकी ख्याति भारतीय-इतिहास में अमर है। विद्या-प्रेमी और धर्मानुरागी सवाई जयसिंह आरम्भ से ही विद्या-प्रेमी और धर्मानुरागी था। जयसिंह ने बचपन में ही अपनी विलक्षण […]

Read more

बाहुबली-11: रानी दुर्गावती जिन्होंने अकबर से हार मानने के बजाए युद्ध क्षेत्र में खुद को कटार घोंप ली

रानी दुर्गावती भारत की एक वीरांगना थीं जिन्होने अपने विवाह के चार वर्ष बाद अपने पति दलपत शाह की असमय मृत्यु के बाद अपने पुत्र वीरनारायण को सिंहासन पर बैठाकर उसके संरक्षक के रूप में स्वयं शासन करना प्रारंभ किया। इनके शासन में राज्य की बहुत उन्नति हुई। दुर्गावती को तीर तथा बंदूक चलाने का अच्छा अभ्यास था। चीते के शिकार में इनकी विशेष रुचि थी। उनके राज्य का नाम गोंडवाना था जिसका केन्द्र जबलपुर था। वे इलाहाबाद के मुगल […]

Read more

जानिए RSS संस्थापक डॉ हेडगेवार के बारे में जिन्हें प्रणब मुखर्जी ने बताया भारत मां का महान सपूत

7 जून को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यक्रम में शामिल हुए देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी. अपने भाषण से पहले मुखर्जी ने RSS के संस्थापक डॉ हेडगेवार की जन्मस्थली का दौरा किया और उन्हें श्रद्धांजलि दी. उन्होंने विजिटर बुक में लिखा, मैं यहां भारत मां के महान सपूत डॉ केशव बलिराम हेडगेवार को श्रद्धांजलि देने आया हूं. RSS के संस्थापक की इस तारीफ में आखिर खास क्या? भारत मां के महान सपूत बताने वाली हेडलाइन अमूमन हर टीवी चैनल […]

Read more
1 2 3 23