Mysterious: कहानी खूबसूरत वादियों के गाटा लूप्स के भूत की, जो पीता है मिनरल वॉटर और सिगरेट

वो कहते हैं ना कि जो चीज जितनी खूबसूरत होती है उतनी ही खतरनाक भी। यहां भी कुछ ऐसा ही है। हिमाचल प्रदेश की वादियां जितनी सुंदर हैं, उतनी खतरनाक भी कही जाती हैं। आज हम आपको बता रहे हैं हिमाचल के एक ऐसे स्थान के बारे में जिसके बारे में कहा जाता है की इस स्थान पर भूत रहता है। यहां से निकलने वाले लोग इस भूत के स्थान पर मिनरल वॉटर और सिगरेट रखकर ही आगे जाते हैं..अब […]

Read more

Research: भू-वैज्ञानिकों की संयुक्त रिपोर्ट, विनाश लेकर आ रहा भूकंप, 14 करोड़ लोग होंगे इसका शिकार

सुनामी हो या भूकंप Earthquake जब भी आते हैं अपने साथ भारी तबाही लेकर आते हैं। उतराखंड की बाढ़ हो या 2004 की सुनामी इनकी तबाही का मंजर शायद ही लोग भूल पाएंगे। इन आपदाओं की तबाही से उभरे भी नहीं के उससे पहले एक और आपदा दैत्य रूपी मुहं खोले सामने खड़ी है। दरअसल नेचर जियोसाइंस नामक एक जर्नल जो की कोलंबिया यूनिवर्सिटी से जुड़ा है, के एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि बांग्लादेश एवं पूर्वी […]

Read more

वीरान: पलक्कड़ किला, मैसूर के शेर, राजा टीपू सुल्तान के साहस और बहादुरी का प्रतीक

पलक्कड़ किला (टीपू सुल्तान के किले के रूप में भी जाना जाता है) केरल राज्य के पालक्कड़ जिले में स्थित राज्य के सबसे अच्छे संरक्षित किलों में से एक है। यह किला मैसूर के शेर, राजा टीपू सुल्तान के साहस और बहादुरी का भी प्रतीक है, इसलिए इसे टीपू के नाम से जोड़ा जाता है। इतिहासकारों के अनुसार पलक्कड़ का राजा कोज़ीकोड़ के शासक ज़मोरीन का हितैषी हुआ करता था। 17वीं शताब्दी के आरम्भ में उन्होंने ज़मोरिन से अलग होने […]

Read more

वीरान: नरवर का किला भारतीय किलों की शान और अत्यन्त प्राचीन व सबसे सुरक्षित किला

रवर दुर्ग मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के नरवर में विन्ध्य वर्वतमाला की एक पहाड़ी पर स्थित है। इसकी ऊँचाई भूस्तर से लगभग 500 फीट है और यह लगभग 8 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला हुआ है। कहा जाता है कि 10वीं शताब्दी में जब कछवाहा राजपूतों ने नरवर पर अधिकार किया तो इस दुर्ग का निर्माण (पुनर्निर्माण) किया। कछवाहों के बाद यहां परिहार और फ़िर तोमर राजपूतों का आधिपत्य रहा और अन्ततः यह 13वीं शताब्दी में मुगलों के […]

Read more

वीरान: 17वीं सदी का प्राचीन महल एवं अपनी वास्तुकला के लिये प्रसिद्ध नाहरसिंह महल

राजा नाहरसिंह महल 17वीं सदी का प्राचीन महल है एवं अपने वास्तुकला के लिये प्रसिद्ध है। यह हरियाणा राज्य के फ़रीदाबाद शहर के बल्लभगढ़ क्षेत्र में स्थित है तथा इसका निर्माण जाट राजा नाहरसिंह के उत्तराधिकारियों द्वारा किया गया था। बल्लभगढ़ किला महल इस महल का निर्माण कार्य 1740 में पूरा हुआ था। इसे बल्लभगढ़ किला महल के नाम से भी जाना जाता है और दक्षिण दिल्ली से 25 किमी की दूरी पर स्थित है। यहां के जाट राजा नाहरसिंह […]

Read more

Adventure: खतरनाक रास्तों पर जहां पैदल चलने में सांसे थम जाती हैं, ये लोग वहां फर्राटे से बाइक दौड़ा रहे हैं

लोगों को रोमांच पसंद होता है और इसके लिए वो किसी भी हद तक जा सकते हैं, लेकिन क्या इस हद तक की जहां जिंदगी को ही खतरा हो। ऐसे लोगों को या तो पागल कहते हैं या फिर जांबाज, लेकिन हम जो वीडियो दिखा रहे हैं ये पागल नहीं हैं, ये तो जांबाज हैं क्योंकि ये जो कारनामा करते हैं वो जोश में आकर नहीं बल्कि पूरी सावधानी और ट्रेनिंग के साथ करते हैं… Credit: Charanpreet singh

Read more

वीरान: इसे किले को लेकर ब्रिटिश और मुग़लों के बीच लगातार होते रहे युद्ध, जानिए क्या थी वजह

मझगाँव दुर्ग Fort भारत के राज्य महाराष्ट्र में स्थित एक दुर्ग है जिसका निर्माण तत्कालीन बॉम्बे (वर्तमान मुम्बई) में 1680 में हुआ था। यह किला वर्तमान के यूसुफ बाप्तिस्ता गार्डन में, भंडारवाड़ा पहाड़ी पर डॉकयार्ड रोड रेलवे स्टेशन के बाहर स्थित है। इस किले Fort पर जून 1690 में सिद्दी जनरल याकूत खान ने आक्रमण किया था। अठारहवीं सदी तक, बंबई कई छोटे द्वीपों में शामिल थे। पुर्तगालियों द्वारा 1661 में महाराष्ट्र के 7 द्वीप इंग्लैंड के राजा चार्ल्स द्वितीय […]

Read more

Travel Time: तिरुपति वेंकटेश्वर, भारत का सबसे ज्यादा दर्शन किया जाने वाला मंदिर

भगवान विष्णु का प्रसिद्ध तिरुपति वेंकटेश्वर ‘Venkateswara’ मन्दिर आन्ध्र प्रदेश के चित्तूर ज़िले के तिरुपति में स्थित है। कई शताब्दी पूर्व बने तिरुपति वेन्कटेशवर मन्दिर की सबसे ख़ास बात इसकी दक्षिण भारतीय वास्तुकला और शिल्पकला का अदभुत संगम है।  तिरुमला के चारों ओर स्थित पहाड़ियाँ, शेषनाग के सात फनों के आधार पर बनी सप्तगिरि कहलाती हैं। श्री वेंकटेश्वर का यह मन्दिर सप्तगिरि की सातवीं पहाड़ी पर स्थित है। तिरुमला के सात पर्वतों में से एक वेंकटाद्रि पर बना श्री वेंकटेश्वर […]

Read more

वीरान: माण्डू,  धार जिले के माण्डव क्षेत्र में स्थित एक प्राचीन शहर जो ऐतिहासिक रूप से है बेहद खास

माण्डू या माण्डवगढ़, धार जिले के माण्डव क्षेत्र में स्थित एक प्राचीन शहर है। यह भारत के पश्चिमी मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र में स्थित है। यह धार शहर से 35 किमी दूर स्थित है। यह 11 वीं शताब्दी में, माण्डू तारागंगा या तरंगा राज्य का उपभाग था। यहाँ परमारों के काल मे इसे प्रसिद्धि प्राप्त हुई और फिर 13 वीं शताब्दी में, यह क्षेत्र मुस्लिम शासकों के अंतर्गत आ गया, जहाँ से इसका स्वर्णकाल प्रारम्भ हो गया। विन्ध्याचल पर्वत […]

Read more

Travel Time: इन गर्मियों में सैर कीजिए शानदार शिमला के खूबसूरत कुफरी की

कुफरी एक छोटा सा लेकिन प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह पर्वतीय स्थान शिमला के पास समुद्री तल से 2510 मीटर की ऊंचाई पर हिमाचल प्रदेश के दक्षिणी भाग में स्थित है। अनंत दूरी तक चलता आकाश, बर्फ से ढकी चोटियां, गहरी घाटियां और मीठे पानी के झरने, कुफरी में यह सब है। कुफरी में ठण्ड के मौसम में अनेक खेलों का आयोजन किया जाता है जैसे स्काइंग और टोबोगेनिंग के साथ चढ़ाडयों पर चढ़ना। ठण्ड के मौसम में हर वर्ष […]

Read more
1 2 3 31